Kangra and Hamirpur Shaadi Ke Geet

काँगड़ा और  हमीरपुर  की शादी की गीत

जब हिमाचल के काँगड़ा और  हमीरपुर मैं कोई शादी होती है तो कुछ रश्में होती हैं

Butna Rasham in Himachal

जब दुलन  को बटना लगया जाता है, तो इस तरह से गीत गाये जाते हैं

बाये बाये  की बटना कटोरे दा
बाये बाये  की बटना कटोरे दा
बाये बाये की बटना  मलदिंया दो जनिया
बाये बाये की बटना  मलदिंया दो जनिया ||

बाये बाये  की बटना कटोरे दा
बाये बाये  की बटना कटोरे दा
बाये बाये  की द्राणी जथंिया
बाये बाये की द्राणी जथंिया ||
बाये बाये की सखिया बेंनयंहा
बाये बाये की सखिया बेंनयंहा
बाये बाये  की बटना कटोरे दा ||”

 

 जमाकङा शादी रशम हमीरपुर और  कागङा हिमाचऌ (Jmakda Rasham in Himachal)

जमाकङा बे जमाकङा बोलदा  नचऩे जो , नचाने  जो,   लेेइ  जा्ने जो, नही बसने  जो, नही बसाने  जो
जमाकङा बे जमाकङा बोलदा  नचऩे जो , नचाने  जो,   लेेइ  जा्ने जो, नही बसने  जो, नही बसाने  जो||

लाङे दीय़े माउ, ते्रा  मन बोलदा, मे्रा  मन बोलदा, नचऩे जो , नचाने  जो लेेइ  जा्ने जो, नही बसने  जो, नही बसाने  जो
जमाकङा बे जमाकङा बोलदा  नचऩे जो , नचाने  जो,   लेेइ  जा्ने जो, नही बसने  जो, नही बसाने  जो ||

लाङे दीय़े मासिए, ते्रा  मन बोलदा, मे्रा  मन बोलदा, नचऩे जो , नचाने  जो लेेइ  जा्ने जो, नही बसने  जो, नही बसाने  जो
जमाकङा बे जमाकङा बोलदा  नचऩे जो , नचाने  जो,   लेेइ  जा्ने जो, नही बसने  जो, नही बसाने  जो ||

लाङे दीय़े मामीए ते्रा  मन बोलदा, मे्रा  मन बोलदा, नचऩे जो , नचाने  जो लेेइ  जा्ने जो, नही बसने  जो, नही बसाने  जो
जमाकङा बे जमाकङा बोलदा  नचऩे जो , नचाने  जो,   लेेइ  जा्ने जो, नही बसने  जो, नही बसाने  जो ||

लाङे दीय़े चाचीए ते्रा  मन बोलदा, मे्रा  मन बोलदा, नचऩे जो , नचाने  जो लेेइ  जा्ने जो, नही बसने  जो, नही बसाने  जो
जमाकङा बे जमाकङा बोलदा  नचऩे जो , नचाने  जो,   लेेइ  जा्ने जो, नही बसने  जो, नही बसाने  जो ||